Beauty Tips

0

कोरोना वायरस के मामले रोजाना लगातार बढ़ते ही जा रहे है। इस वायरस से बचाव के लिए सभी अपने स्तर पर सावधानियां बरत रहे है। यह वायरस कैसे फैला और इसका इलाज क्या है इस पर जांच भी जारी है। इस महामारी ने फेफड़ों को भी अपना निशाना बनाया है। अमेरिका में कोविड 19 से संक्रमित लोगों के बाल झड़ने का मामला सामने आया है। डॉक्टरों का कहना है कि उनके पास बाल झड़ने की परेशानियों लेकर पहुंचने वाले मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। डॉक्टर इसका कारण कोरोना वायरस को मान रहे है।

यह भी पढ़े :— इन तरीकों से हो रही है बैंकिंग धोखाधड़ी, फ्रॉड से बचने के लिए आसान उपाय

सर्वे में हुआ खुलासा
एक सर्वे के अनुसार, कोविड 19 के 1567 मरीजों पर शोध किया गया। सर्वाइवर कॉर्प्स और इंडियाना यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन में एसोसिएट रिसर्च प्रोफेसर नताली लैंबर्ट के मुताबिक, इनमें से 423 लोगों ने पाया कि उनके बाल असामान्य रूप से झड़ रह हैं। डॉक्टरों का कहना है कि ज्यादातर मरीजों के लिए यह हालात अस्थाई हैं। हालांकि कुछ डॉक्टर इसका कारण साइकोलॉजिकल तनाव को भी मान रहे है। उनका कहना है कि कई लोग जो वायरस की चपेट में नहीं आए हैं, वे भी बालों को झड़ने या टूटने से परेशान हैं। इसका कारण नौकरी जाने का तनाव, आर्थिक मुश्किलें, किसी करीबी की मौत है।

यह भी पढ़े :— फेस्टिव सीजन : इन तरीकों से करें मनचाही खरीदारी, नहीं बिगड़ेगा बजट और होगी बड़ी बचत

एक्सपर्ट्स की सलाह
बाल झड़ने पर एक्सपट्र्स सलाह दे रहे है कि इस दौरान क्या करना चाहिए। एक्सपर्ट्स अच्छे पोषण और बायोटीन जैसे विटामिन, योग, स्काल्प मसाज या ध्यान की सलाह देते हैं। बाल झड़ने के कारण तनाव का शिकार हुए लोगों को डॉक्टर जाफरानी साइकोथैरेपी की सलाह देते हैं। डॉक्टर होगन ने कहा कि कुछ मरीजों के लिए यह हालात इतने दुखी करने वाले होते हैं कि वे बालों को धोना या ब्रश करना छोड़ देते हैं। उन्होंने कहा कि लोगों को खुद की सफाई से नहीं डरना चाहिए।

कोरोना वायरस के मामले रोजाना लगातार बढ़ते ही जा रहे है। इस वायरस से बचाव के लिए सभी अपने स्तर पर सावधानियां बरत रहे है। यह वायरस कैसे फैला और इसका इलाज क्या है इस पर जांच भी जारी है। इस महामारी ने फेफड़ों को भी अपना निशाना बनाया है। अमेरिका में कोविड 19 से संक्रमित लोगों के बाल झड़ने का मामला सामने आया है। डॉक्टरों का कहना है कि उनके पास बाल झड़ने की परेशानियों लेकर पहुंचने वाले मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। डॉक्टर इसका कारण कोरोना वायरस को मान रहे है।

यह भी पढ़े :— इन तरीकों से हो रही है बैंकिंग धोखाधड़ी, फ्रॉड से बचने के लिए आसान उपाय

सर्वे में हुआ खुलासा
एक सर्वे के अनुसार, कोविड 19 के 1567 मरीजों पर शोध किया गया। सर्वाइवर कॉर्प्स और इंडियाना यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन में एसोसिएट रिसर्च प्रोफेसर नताली लैंबर्ट के मुताबिक, इनमें से 423 लोगों ने पाया कि उनके बाल असामान्य रूप से झड़ रह हैं। डॉक्टरों का कहना है कि ज्यादातर मरीजों के लिए यह हालात अस्थाई हैं। हालांकि कुछ डॉक्टर इसका कारण साइकोलॉजिकल तनाव को भी मान रहे है। उनका कहना है कि कई लोग जो वायरस की चपेट में नहीं आए हैं, वे भी बालों को झड़ने या टूटने से परेशान हैं। इसका कारण नौकरी जाने का तनाव, आर्थिक मुश्किलें, किसी करीबी की मौत है।

यह भी पढ़े :— फेस्टिव सीजन : इन तरीकों से करें मनचाही खरीदारी, नहीं बिगड़ेगा बजट और होगी बड़ी बचत

एक्सपर्ट्स की सलाह
बाल झड़ने पर एक्सपट्र्स सलाह दे रहे है कि इस दौरान क्या करना चाहिए। एक्सपर्ट्स अच्छे पोषण और बायोटीन जैसे विटामिन, योग, स्काल्प मसाज या ध्यान की सलाह देते हैं। बाल झड़ने के कारण तनाव का शिकार हुए लोगों को डॉक्टर जाफरानी साइकोथैरेपी की सलाह देते हैं। डॉक्टर होगन ने कहा कि कुछ मरीजों के लिए यह हालात इतने दुखी करने वाले होते हैं कि वे बालों को धोना या ब्रश करना छोड़ देते हैं। उन्होंने कहा कि लोगों को खुद की सफाई से नहीं डरना चाहिए।

Leave a Reply